पालिस आन्दोलन तमिलनाडु (Movement of the Pallis)

पालिस आन्दोलन तमिलनाडु में चलाया गया एक अनुखा आंदोलन था। ये आंदोलन उत्तरी तमिलनाडु में रहने वाली पालिस नामक निम्न जाति के लोगो के द्वारा चलाया गया था। तमिलनाडु के उत्तरी भाग में पालिस जाती के लोग रहते थे। इन लोगो ने अपने आप को खुद ही सन 1871 में क्षत्रिय कहना शुरू कर दिया था। ये लोग क्षत्रियो की भाती रहने लगे थे। और इन्होंने क्षत्रियो की भांति रहना शुरू कर दिया था।  उन्होंने स्वयं को वाणिंया कुल क्षत्रिय कहा। इन लोगो ने उच्च जातियो की नक़ल करते हुए विधवा पुनर्विवाह पर प्रतिबन्ध लगा दिया था। इस आंदोलन को पालिस आंदोलन के नाम से जाना जाता है।

No comments:

Post a Comment