दिल्ली का स्वामि नारायण अक्षरधाम मन्दिर (Swami Narayan Akshardham Mandir)


भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित अक्षरधाम मन्दिर, भगवान स्वामी नारायण जी भगवान की स्मृति में बनवाया गया एक बहुत ही और विश्व प्रसिद्ध अत्यन्त विशाल मंदिर है। इस मंदिर का परिसर लगभग सौ एकड़ क्षेत्रफल में फैला हुआ है। अक्षरधाम मंदिर (Akshardham Mandir) को मात्र एक मंदिर ही नहीं कहाँ सकता बल्कि भारत देश की विभिन्न संस्कृतियों का एक ऐसा बेजोड संगम भी माना जाता है अक्षरधाम मंदिर पर भारत की दस हजार साल पुरानी रहस्यमय सांस्कृतिक धरोहर मौजूद है. अक्षरधाम मंदिर विश्व का पहला ऐसा हिंदू मंदिर है बन गया है जिसका प्रताप बहुत कम समय में पुरे विश्व में फैला है और दुनिया का सबसे विशाल हिंदू मन्दिर परिसर होने के कारण इस मंदिर का नाम २६ दिसम्बर २००७ को गिनीज बुक आफ द व‌र्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) में दर्ज हो चुका है. दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर में 234 खंबे है , यहाँ नौका विहार (Boating) की सुविधा उपलब्ध , सिनेमाघर (Cinema Hall) है जसमे स्वामी नारायण के सम्पूर्ण जीवन के बारे में पता है और यहाँ करीब 20 हजार मूर्तियां हैं, जो इस मंदिर को दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर बनाती हैं. 06 नवंबर, 2005 को यह मंदिर दिल्ली में बन कर तैयार हो गया था. यह इमारत दुनिया की सबसे अजीब और अलग इमारतों में इसलिए भी गिनी जाती है क्यूंकि इस पूरी इमारत को बनाने में कहीं पर भी कंक्रीट या स्टील का इस्तेमाल नहीं हुआ है. इसे बनाने में बस गुलाबी बलुआ पत्थर लगे हैं. यह तीन हजार टन पत्थरों से निर्मित है, यह मंदिर स्वामी नारायण को समर्पित है, इस मंदिर में मैजिक फाउंटेन भी है जो सबका मन मोह लेता है

No comments:

Post a Comment